गर्मियों में अपनी सेहत का ध्यान कैसे रखें

गर्मियों में अपनी सेहत का ध्यान कैसे रखें और, गर्मियों में होनेवाले बीमारियोंसे कैसे बचे Health Tips for Summer

हर साल की तरह इस साल भी गर्मी का मौसम शुरू हो चूका है | गर्मी यानि चिलचिलाती धुप, पसीना और गर्मी से होने वाले स्किन प्रोब्लेम्स | जैसे ही विंटर  होता है हमें गर्मियोंकी मौसम की तैयारी शुरु कर देनी चाहिए | धीरे धीरे अपने हर रोज के जीने के तरीके, खाने पिने के तरीके और अपनी सेहत भी | गर्मियोंका मौसम आपके सहते पे ज्यादा असर डालता है जिसमे आपके बीमार होने के चान्सेस बढ़ जाते है | इसीलिए आपको अपनी सेहत का थोड़ा ज्यादा ध्यान रखना चाहिए |

आइये  जानते है इस साल की गर्मी में आप अपनी सेहत का ध्यान कैसे रखेंगे

गर्मियों में हेल्दी रहने के कुछ टिप्स

  1. स्वस्थ और हल्का खाएं (Eat Healthy and Light)

हल्का खाना और दिन में बार बार थोड़ा थोड़ा खाये| एक ही समय भर पेट खाना कुछ दिनों के लिए बंद कर दे | भारी मात्रा में कार्बोहाइड्रेट और फैट्स वाले भारी भोजन से शरीर में बहुत अधिक गर्मी पैदा होती है। ताजे फलों और सब्जियों पर ध्यान दें जिनमें पानी की मात्रा अधिक होती है – जैसे संतरा, तरबूज, टमाटर आदि।

  1. अपनी आंखों का अच्छे से ख्याल रखें  (take care of you eyes)

काम पर और खेलने के दौरान कड़ी धूप से अपनी दृष्टि की रक्षा करें, सुरक्षात्मक eye wear पहनें। बाहर जाने पर, धूप का चश्मा पहनें जो कम से कम 99% UV rays  को रोकते हैं।

  1. शराब और कैफीन से बचें  (avoid Alcohol and caffeine)

शराब, फ़िज़ी पेय और कॉफी सभी आपको जल्दी निर्जलित (dehydrate) कर सकते हैं। यदि हो सके तो, इन पसंदीदा पेय पदार्थों की मात्रा को कम करने का प्रयास करें, खासकर गर्म मौसम के दौरान। सादा या सुगंधित पानी एक अच्छा विकल्प है। सदा पानी, नींबू शरबत, शक्कर पानी ज्यादा पिने की कोशिश करे, यह आपके शरीर में पानी की मात्रा को बनाये रखनेमे मदत करेंगे और आप हाइड्रेटेड रहेंगे

  1. खूब पानी पिएं (Drink plenty of water)

गर्मी के महीनों में गर्मी और पसीना आपके शरीर को निर्जलित कर सकता है, जिससे बुखार और ठंड लगना जैसे स्वास्थ्य परिणाम हो सकते हैं। रोजाना कम से कम 2 से 3 लीटर पानी पीकर खुद को अच्छी तरह से हाइड्रेट रखें।

  1. घर के अंदर रहें (Stay Indoor)

गर्मियों में वैसे ही सूरज की किरणे ज्यादा तेज रहते है इसीलिए कड़कड़ाती धुप में घर से बहार न निकले | अपने काम सुबह ११ बजसे पहले ख़त्म करे या फिर, श्याम हो की घर से बहार निकले| सूरज की किरणे आपके स्वास्थ के साथ आपके स्किन के लिए भी हानि कारक होते है |

  1. बाहर के खाने से बचें (avoid outside food)

सड़क के किनारे का खाना दूषित हो सकता है और इससे खाद्य जनित बीमारियां हो सकती हैं। साथ ही गर्मी की गर्मी में अगर खाना ठीक से नहीं रखा गया तो यह खराब हो सकता है और पेट में संक्रमण हो सकता है।

गर्मियों में अपनी सेहत का ध्यान कैसे रखें

गर्मियों की छुट्टियां और यात्राएं

समर का सीजन है जो बच्चों को स्कूल में छुट्टियां होती है, ऐसे में बच्चोंको लेकर बहार घूमने जाने का प्लान बनाना स्वाभाविक है | ज्यादा तर लोग गर्मियोंमें घूमने का प्लान बनाते है | ऐसे में कुछ सावधानिया बरतनी जरुरी है | आइये जानते है अगर आप घर्मीयो में घूमने जा रहे हो तो आपको किन किन चीजों का ध्यान रखना चाहिए |

यहां कुछ सलाह हैं:

आपके कपड़े Accessories Right

हल्के रंग और सूती और लिनन जैसे प्राकृतिक कपड़े पहनें। जब आप बाहर हों, तो अपने मुंह, नाक और कानों को गर्म हवाओं से बचाने के लिए उचित कवर का उपयोग करें, जिससे निर्जलीकरण हो सकता है। छाया के लिए टोपी या छतरी का प्रयोग करें और अपनी आंखों की सुरक्षा के लिए धूप का चश्मा पहनें।

सनस्क्रीन लगाएं Apply sunscreen

आपको ध्यान रखना होगा की आप हर ३-४ घंटे में आपने शरीर पर एक अच्छा सनस्क्रीन लगा रहे हो | खासकर के जो शरीर हिस्से खुले हुए रहते है, जैसे की हाथ, चेहरा, पैर | सनस्क्रीन आपकी स्किन को सूरज की UV रेज़ से बचाएंगे और आप टैन भी नहीं होंगे |

हर रोज के नियम बनाये   Adapt daily skin care routine

अगर उचित देखभाल नहीं की गई तो गर्मी आपकी त्वचा पर कहर बरपा सकती है। अत्यधिक तेल और पसीने के कारण परेशानी जलन, रैशेज, कांटेदार गर्मी और पिम्पल्स भी बढ़ सकते है | मुंहासों से बचने के लिए अपने चेहरे को बार-बार धोएं या पसीने से तर चेहरे को पोंछने के लिए टिश्यू का इस्तेमाल करें। त्वचा को शांत करने के लिए एलोवेरा जेल या चंदन पाउडर के साथ प्राकृतिक फेस पैक का प्रयोग करें। गर्मियोंमें अपनी त्वचा का ध्यान रखे |

गर्मियों में अपनी सेहत का ध्यान कैसे रखें

गर्मियों में होने वाली कुछ आम बीमारियां Common Summer dieses

गर्मी कई स्वास्थ्य समस्याओं को लेकर आती है जो साधारण समस्याओं जैसे सिरदर्द, त्वचा पर चकत्ते, सनबर्न आदि से लेकर खसरा (measels), पीलिया (Jondice), और बहुत कुछ गंभीर होती हैं। आपको गर्मियों में होने वाली बीमारियों से बचाव के आवश्यक उपाय करने चाहिए।

यहां कुछ सलाह हैं:

धूप की कालिमा (Sunburn)

सनबर्न के कुछ लक्षणों में त्वचा का लाल होना, हल्का चक्कर आना और थकान शामिल हैं। अपने आप को सनबर्न से बचाने के लिए, धूप में निकलने से 20 मिनट पहले अपने शरीर के उजागर क्षेत्रों पर सनस्क्रीन लोशन लगाएं।

तापघात Heat Stroke

हीट स्ट्रोक गर्मी की एक और आम बीमारी है, जिसका इलाज न किया जाए तो यह घातक हो सकता है। हीट स्ट्रोक के कुछ लक्षणों में सांस लेने में कठिनाई, तेजी से नाड़ी, शरीर का उच्च तापमान, भ्रम आदि शामिल हैं। इसीलिए दोपहर की धूप में बहार न जाये|

तेज गर्मी के कारण घमोरियां Prickly heat

घमोरियां, गर्मी लाल चकत्ते को संदर्भित करती है जो नमी और गर्मी की अधिकता के कारण होती है। पसीने की ग्रंथियों के बंद होने के कारण चुभने वाली गर्मी हो सकती है। घमोरियां के लक्षण दिखाने वाले क्षेत्रों पर घमोरियां  पाउडर लगाकर आप घमौरियों से राहत पा सकते हैं।

विषाक्त भोजन Food Poisoning

गर्मी में तेज गर्मी के कारण खाना जल्दी खराब हो सकता है। फूड प्वाइजनिंग के खतरे से बचने के लिए बचे हुए खाने को फ्रिज में रखें। भोजन को अच्छी तरह से पकाया जाना चाहिए ताकि यह खराब न हो। बासा खाना फेंक दे या जानवरों को लगा दे|

दस्त Diarrhea

क्योंकि खाना जल्दी खराब हो जाता है इसलिए गर्मियों में डायरिया होना आम बात है। दूषित भोजन और ख़राब  पीने की आदतों से दस्त हो सकते हैं। अतिसार से बचने के लिए सुनिश्चित करें कि आप पानी उबाल कर ही पियें और सब्जियों को काटने से पहले और बाद में अच्छी तरह धो लें।

त्वचा के चकत्ते Skin Rashes

गर्मियों के दिनों में बच्चों और बड़ों में त्वचा पर रैशेज होना एक आम समस्या है। यह आमतौर पर तब होता है जब किसी व्यक्ति को बहुत अधिक पसीना आता है। बार-बार नहाएं, अपने कपड़े बार-बार बदलें और टाइट कपड़े पहनने से बचें।

छोटी माता Chickenpox

चिकनपॉक्स गर्मियों में होने वाली सबसे आम बीमारियों में से एक है। यह तेज बुखार के साथ तरल पदार्थ से भरे लाल और छोटे-छोटे चकत्ते के रूप में शुरू होता है। यह बच्चों और कम प्रतिरक्षा (Low immunity) वाले लोगों में आम है और अत्यधिक संक्रामक है।

खसरा Measles

खसरा अभी तक एक और आम गर्मी की बीमारी है। पैरामाइक्सोवायरस जो खसरा का कारण बनता है वह गर्मियों के दौरान तेजी से प्रजनन करता है। इसके शुरूआती लक्षण हैं खांसी, तेज बुखार, गले में खराश और आंखों में लाली आना। बाद के चरण में, पूरे शरीर पर छोटे सफेद धब्बे और खसरे के दाने दिखाई देते हैं।

पीलिया Jondice

पीलिया एक सामान्य पानी से होने वाली रोग है। यह हेपेटाइटिस ए का परिणाम हो सकता है और मुख्य रूप से दूषित भोजन और पानी के सेवन के कारण होता है। यदि समय पर इलाज नहीं किया जाता है, तो यह रोग यकृत (Liver) की कार्यक्षमता को प्रभावित कर सकता है जिससे पित्त (Acidity) का अधिक उत्पादन हो सकता है।

आंत्र ज्वर Typhoid

स्वस्थ व्यक्तियों में टायफायड मौखिक-मल मार्ग Oral Feacal Route के माध्यम से प्रेषित होता है। दूषित भोजन और जल स्रोत बैक्टीरिया के लिए प्रजनन स्थल बन जाते हैं। टाइफाइड के दिखाई देने वाले लक्षण कमजोरी, भूख न लगना, थकान, पेट में दर्द, तेज बुखार हैं।

कण्ठमाला का रोग Mumps

सभी गर्मियों की बीमारियों में से, कण्ठमाला एक और बेहद संक्रामक वायरल बीमारी है और बच्चों को प्रभावित करती है। यह प्रकृति में संक्रामक है और संक्रमित व्यक्ति के खांसने या छींकने पर फैलता है। कुछ दिखाई देने वाले लक्षणों में सूजी हुई लार ग्रंथि, मांसपेशियों में दर्द, बुखार, सिरदर्द, भूख न लगना और कमजोरी शामिल हैं।

गर्मियों में बीमारियों के फैलने का प्राथमिक कारण बैक्टीरिया, वायरस और अन्य परजीवियों के प्रजनन के लिए अनुकूल मौसम की स्थिति की उपस्थिति है। रोकथाम के उपाय करें और गर्मियों में अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य की रक्षा करें। गर्मी की किसी भी बीमारी के लिए कृपया डॉक्टरों से सलाह लें।

Leave a Reply

Your email address will not be published.