उत्सव और आहार (Festive Diet): स्वस्थ रहने और स्वादिष्ट भोजन का आनंद लेने के सर्वोत्तम उपाय

हमारे देश में  उत्सव मतलब बहुत सारा प्यार, और बहुत सारा स्वादिष्ट खाना

गणेश चतुर्थी के साथ, भारत में त्योहारों का मौसम पहले ही शुरू हो चुका है। इससे पहले कि हम इसे जानें, यह नवरात्रि होगी, उसके बाद दिवाली होगी। जबकि यह हमारी परंपराओं का आनंद लेने के लिए परिवार और दोस्तों के साथ जश्न मनाने और जुड़ने का एक अच्छा समय है| ये सभी उत्सव अपने साथ पारंपरिक व्यंजन लेकर आते हैं। पारंपरिक रूप से तैयार किए गए फेस्टिव ट्रीट के बहुत सारे स्वास्थ्य लाभ होते हैं। उदाहरण के लिए, स्टीम्ड मोदक (Steamed Modak) स्वाद और पोषण का सही संयोजन है।

चावल के आटे का बाहरी आवरण एक स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) है। वहीं इनर स्टफिंग में घी (Butter), गुड़ (jaggery) , ताजा नारियल (fresh Coconuts) और नट्स (Nuts) होते हैं, जिनमें अच्छी मात्रा में विटामिन और मिनरल (Vitamin and Minerals) होते हैं जो हमारे शरीर को संपूर्ण रूप से पोषण देते हैं। समस्या तब उत्पन्न होती है जब हम इन व्यंजनों का अत्यधिक सेवन करते हैं, विशेष रूप से वे जो पारंपरिक रूप से तैयार नहीं होते हैं।

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपको अतिरिक्त किलो वज़न जोड़ने के तनाव के बिना अपने पसंदीदा स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद लेने में मदद करेंगे:

  1. अपने दिन की स्वस्थ शुरुआत करें (Start your healthy Day): अपने दिन की शुरुआत पौष्टिक नाश्ते के साथ करने से आपका मेटाबॉलिज्म बूस्ट (Metabolism) होता है, जिससे अपने आप ही आप रात में कम खाना खाएंगे|
  2. घर पर स्वादिष्ट व्यंजन तैयार करें (Prepare delicacy at home): घर के बने व्यंजन स्टोर से खरीदे गए व्यंजनों की तुलना में कहीं अधिक स्वस्थ होते हैं, और आप सामग्री और उनकी गुणवत्ता के नियंत्रण में होंगे। आप अपनी रचनात्मकता का उपयोग पकवान को यथासंभव स्वस्थ बनाने के लिए भी कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, इसे रिफाइंड चीनी का उपयोग करने के बजाय गुड़/ताजा खजूर का पेस्ट/सूखा खजूर पाउडर या नारियल पाम चीनी का उपयोग करे|
  3. स्वादिष्ठ खाना भी कम खाने की कोशिश करे (eat less): भोजन कितना भी स्वस्थ और स्वादिष्ट क्यों न हो, ज्यादा खाना हानिकारक होता है । स्वस्थ भोजन पौष्टिक हो सकता है लेकिन फिर भी इसमें कैलोरी हो सकती है, इसलिए आप कम खाने की कोशिश करें
  4. अपने आप को सक्रिय रखें (Stay Active): उत्सव के भोजन में हमारे गैर-उत्सव के दिन के भोजन की तुलना में अधिक कैलोरी होती है। ये अतिरिक्त कैलोरी जिनकी शरीर को आवश्यकता नहीं होती है वे फैट्स (Fats) के रूप में जमा हो जाती हैं। अपने आप को सक्रिय रखना और यह सुनिश्चित करना कि आप किसी रिश्तेदार के घर चले जाएं या अतिरिक्त कैलोरी को जलाने के लिए अपने व्यायाम की दिनचर्या से चिपके रहें।
  5. खाते समय कोई संकोच न करें (Eat without guilt): अक्सर, लोग संकोच के साथ उत्सव का खाना खाते हैं। संकोच की भावना हार्मोन के साथ खिलवाड़ करती है और शरीर में कोर्टिसोल (तनाव हार्मोन) में एक स्पाइक का कारण बनती है जिससे भूख बढ़ती है और वजन बढ़ता है।
  6. भोजन के बाद पाचन चाय ले (Take digestive tea after meal): उत्सव का भोजन आपके पाचन में बाधा डाल सकता है और अक्सर सूजन/एसिडिटी या यहां तक ​​कि कब्ज की भावना पैदा कर सकता है। अदरक या सौंफ की चाय जिसमें सक्रिय पाचन एंजाइम होते हैं, आपको पेट खराब होने से बचाएगी।
  7. भोजन न छोड़ें (Do not skip meal): भोजन छोड़ने से अगला भोजन अधिक खाया जाता है, और आप आवश्यकता से अधिक खा सकते हैं। घर का बना एक छोटा नाश्ता या भोजन खाने से सभाओं में अधिक खाने से बचा जा सकेगा।
  8. सुबह के खाने में में स्वादिष्ट भोजन करें (Eat Delicacy in lunch): दिन के पहले भाग में मीठा या तली हुई चीजों का सेवन करना पसंद करें क्योंकि आपकी गतिविधि का स्तर और चयापचय रात के बजाय दिन में बहुत अधिक होता है।

यह कुछ टिप्स है जो आपको त्यौहार के दिन में भी स्वस्थ रेहनेमे मदत करेंगे| आपका वजन भी नहीं बढ़ेगा और उत्सव के हैवी खाने के मजे भी ले सकेंगे |

Leave a Reply

Your email address will not be published.